नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) के लगातार बढ़ते जा रहे खतरे को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशभर में लॉकडाउन का ऐलान कर दिया है, हालांकि अब भी कुछ लोग इसे गंभीरता से न लेते हुए सड़कों पर उतर रहे हैं. ऐसे लापरवाह लोगों को लेकर भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सचिन तेंदुलकर ने गहरी निराशा जाहिर की है. सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने लोगों से ‘लॉकडाउन’ के निर्देशों को गंभीरता से लेने की अपील करते हुए आगाह किया कि कोरोना वायरस अगर आग है तो इसे फैलाने वाली हवा हम हैंं.

अब भी बाहर क्रिकेट खेल रहे हैं लोग
सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने कहा कि यह निराशाजनक है कि कुछ लोग इस बंद को गंभीरता से नहीं ले रहे हैं. उन्होंने ट्विटर पर जारी एक वीडियो में कहा, ‘हमारी सरकार ने और दुनिया भर के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने हमसे आग्रह किया है कि हम घर पर रहें. और जब तक कोई आपात स्थिति न हो हम बाहर न जाएं. मगर फिर भी लोग इसे गंभीरता से नहीं ले रहे हैं. मैंने कुछ वीडियो भी देखे हैं जिनमें लोग अब भी बाहर क्रिकेट खेल रहे हैं.’

ये छुट्टियों के दिन नहीं हैं…

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने कहा, ‘सभी चाहते हैं कि हम बाहर जाएं, दोस्तों से मिलें, खेल खेलें लेकिन अभी ये सब करना देश के लिए बहुत हानिकारक है. याद रखिये ये दिन छुट्टियों के दिन नहीं हैं. कोरोना वायरस (Coronavirus) अगर आग है तो इसे फैलाने वाली हवा हम हैं. इस वायरस को रोकने का एक ही तरीका है कि हम सब अपने घरों में रहें.’

अपने-अपने घर रहकर आप दुनिया को बचा सकते हैं
सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने साथ ही कहा कि वह पिछले दस दिनों से घर से बाहर नहीं निकले हैं और अगले 21 दिनों तक भी वह इस पर कायम रहेंगे क्योंकि वर्तमान समय में समाज, देश और दुनिया को बचाने का एकमात्र तरीका यही है. उन्होंने कहा, ‘डॉक्टर, नर्स, अस्पताल के कर्मचारी जो हमारे लिए लड़ रहे हैं उनके लिए हम इतना तो कर ही सकते हैं और उनकी कही हुई बातों को मान सकते हैं. इसे एक मौका समझें अपने परिवार के साथ समय बिताने का. आप अपने आप को, हमारे समाज को, हमारे देश को और सारी दुनिया को इस वायरस से बचा सकते हैं सिर्फ अपने अपने घरों में रहकर.’